ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
अब नहीं हो सकेगा सूर्यनारायण सरोवर एवं बिरूल रोड तालाब का सौंदर्यीकरण एवं निर्माण, उक्त सभी कार्य किए शासन ने निरस्त
June 10, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़

अब नहीं हो सकेगा सूर्यनारायण सरोवर एवं बिरूल रोड तालाब का सौंदर्यीकरण एवं निर्माण, उक्त सभी कार्य किए शासन ने निरस्त

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल 

मुलताई। नगर में तीन स्थानों पर पार्क निर्माण, सौंदर्यीकरण एवं विकास हेतु संचालनालय नगरीय प्रशासन एवं विकास भोपाल द्वारा मुलताई नगर पालिका को मार्च 20 में डेढ़ करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई थी, लेकिन प्रदेश में सरकार बदलते ही इस राशि से होने वाले इन कामों को निरस्त कर दिया गया है। इन कार्यो की  निरस्ती के आदेश का पत्र भी संबंधित विभाग को भेज दिया गया है। 

नगर के सूर्यनारायण तालाब, बिरूल रोड तालाब एवं इंदिरा गांधी वार्ड में हाउसिंग बोर्ड कालोनी के पास पार्क एवं अन्य निर्माण किए जाने के लिए मार्च 20 में तत्कालीन मंत्री सुखदेव पांसे ने डेढ़ करोड़ की राशि स्वीकृत करवाई थी। इस राशि की स्वीकृति के संबंध में एक आदेश पत्र भी नगर पालिका मुलताई आ गया था, लेकिन समय पर काम नहीं होने और सरकार बदलने से अब उक्त राशि से होने वाले उक्त कार्यो को निरस्त कर दिया गया हैै।  

दरअसल  पिछले सवा साल पहले इन तीनों स्थानों पर पार्क बनाने के निर्देश तत्कालीन पीएचई एवं श्रम मंत्री सुखदेव पांसे ने दिए थे। जिसके बाद नगर पालिका द्वारा सूर्यनारायण सरोवर के समीप जमीन की तार से बाउंड्रीवाल बना दी गई थी। वहीं हाउसिंग बोर्ड कालोनी में भी अतिक्रमण हटाकर सफाई की गई थी। 

वहीं बिरूल रोउ तालाब के घाट के सौंदर्यीकरण के लिए भी कदम उठाए गए थे, लेकिन राशि नहीं होने से तीनों ही स्थानों पर काम रूका हुआ था। राशि की स्वीकृति मिलने से उक्त काम फिर से प्रारंभ होने थे, लेकिन ना तो डीपीआर बनी और ना ही उक्त काम हो पाए।  मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना के तहत उक्त राशि स्वीकृति की गई थी, लेकिन उक्त कार्य ही निरस्त कर दिया गया है। 

सवा साल में नहीं बना पार्क  

मंत्री बनने के बाद सुखदेव पांसे द्वारा तीनों स्थानों पर पार्क बनाने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन उनके सवा साल के कार्यालय में पार्क नहीं बन पाया। राशि स्वीकृत होने के बाद संभावना व्यक्त की जा रही थी कि अब जल्द से जल्द उक्त कार्य हो जांएगे, लेकिन कांग्रेस की सरकार गिर गई और उक्त काम अधर में लटक गए। यदि इन कामों को लेकर पहले से प्राथमिकता तय की जाती तो सवा साल में उक्त कार्य हो सकते थे, लेकिन उक्त कार्य पूरे नहीं हो पाए और अधूरे ही रह गए। 

हाईवे किनारे बनने वाले पार्क के लिए नहीं स्वीकृत हुई राशि 

मुलताई-अमरावती मार्ग पर हाईवे किनारे दोनों ओर ओपन जिम के साथ विशाल पार्क का निर्माण भी किया जाना था। जिसके लिए भी पिछले सवा साल से लगातार काम किया जा रहा था, लेकिन इन दोनों ही पार्को के निर्माण के लिए राशि तक स्वीकृत नहीं हो पाई। पिछले सवा साल में कई बार कलेक्टरों ने दौरा किया और जल्द से जल्द काम शुरू करने का आश्वासन भी दिया, लेकिन काम नहीं हो पाया। यहां दो बोर खुदवाएं गए और फेंसिंग हो पाई, वहीं कुछ पौधे लगे। इसके अलावा और कोई काम नहीं हो पाया, जिससे लोगों में मायूसी है।