ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
अवैध शराब बिक्री के खिलाफ छिड़ गई जंग, शराबी करते है महिलाओ को परेशान
November 1, 2019 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • क्राइम / अपराध
अवैध शराब बिक्री के खिलाफ छिड़ गई जंग, शराबी करते है महिलाओ को परेशान

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

सीएसपी को शिकायत. शराबी करते है महिलाओ को परेशान, हो सकती है किसी भी दिन बड़ी घटना

 

नागदा. नगर मे तेजी से अपने पाव पसार चुका अवैध शराब का कारोबार । बिरला ग्राम पुलिस की छापामार कार्रवाई के बाद स्कूलों रिहायशी इलाकों में संचालित शराब दुकानों को हटाने की मांग एक बार फिर तूल पकड़ती नजर आ रही है गुरुवार को बिरला ग्राम कांग्रेस मंडल अध्यक्ष अजय शर्मा सहित भाजपा पार्षदों ने नियम विरुद्ध संचालित हो रही दुकानों को हटाने की शिकायत कलेक्टर व आबकारी विभाग से की है।

सूत्रो की माने तो जिम्मेदारों की मिलीभगत से शहर अवैध शराब बिक्री का गढ़ बनता जा रहा है नागदा नगर के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं यदि किसी व्यक्ति को आधी रात को भी शराब चाहिए होती है तो उसे आसानी से शराब मिल जाती है। वहीं ठेकेदारों की प्रतिस्पर्धा के चलते एक दूसरे के क्षेत्र में कम कीमत में ग्राहकों को घर बैठे शराब मुहैया कराई जा रही है शराब के कारण शहर में लगातार अपराध व घटनाएं बढ़ती जा रही हैं।

इसे भी पढ़ें :- ट्रेलर वीडियो देखें : “दबंग 3” के ट्रेलर में दिखी चुलबुल पांडे और बाली के बीच दमदार फेसऑफ की झलक, फ़िल्म में होगी एक्शन की भरमार!

पिछले कुछ हफ्तो की बात करें तो शराब के कारण कुछ मौतें भी हो चुकी है आपको बता दें कि पहली घटना रोड एक्सीडेंट की है जिसमें युवक ने नशे की हालत में शिव मंदिर के पुजारी जो मंदिर से पूजा कर घर लौट रहे थे उनको चार पहिया वाहन से कुचल दिया था जिनकी इंदौर में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई । वहीं दूसरी घटना दुर्गापुरा क्षेत्र की है जहा शराब पीने की बात को लेकर दोस्तों में विवाद हो गया और चाकूबाजी की घटना में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई एक अन्य युवक गंभीर रूप से घायल अवस्था में उज्जैन उपचार के लिए भेजा गया। बिरला ग्राम पुलिस ने अवैध शराब कारोबारियों के ऊपर बुधवार की शाम एक अभियान के तहत दबीस दे कर पाच लोगो पर कार्यवाही की जो करवाई महज एक औपचारिकता ही साबित हुई।

इसे भी पढ़ें :- बिरलाग्राम पुलिस ने अवैध शराब बिक्री के अड्डों पर मारी दबिश, 5 लोगों को शराब केे साथ किया गिरफ्तार

सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार बिरलाग्राम मंडल अध्यक्ष अजय शर्मा ने कलेक्टर को लिखित शिकायत करते हुए कहा कि पुलिस व प्रसासन की सुस्ती के कारण होटल,ढाबे के साथ गली मोहल्ले में शराब बिक रही है यहां असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगने से गुजरती महिला युवतियों पर शराबी अभद्र टिप्पणियां करते हैं और झुग्गी बस्तियों में तो हर चौथे पांचवें घर में अवैध शराब बिक रही है यहां के रहवासियों के घर के बाहर शराबी घेरा बना कर बैठ जाते हैं।

आबकारी अधिनियम के प्रावधानों में स्पष्ट है की स्कूल, अस्पताल और धर्मशाला के पास दुकानें संचालित नहीं की जा सकती हैं तो फिर यहां नियमों का पालन क्यों नहीं हो रहा है।

इसे भी पढ़ें :- चाकू से किये अंधाधुंन वार से युवक की हत्या, शहर में मची सनसनी, ये रही वीडियो में पूरी कहानी

किसी भी दिन शराबियों को पीटा तो होगी बड़ी अनहोनी

वार्ड क्रमांक 30 की पार्षद विनीता कमल शर्मा ने सीएसपी मनोज रत्नाकर को शिकायत कर बताया है कि उनके वार्ड में पुराने ब्रिज के नीचे स्थित देसी शराब की दुकान के पास ही शहर के दो बड़े निजी स्कूल है संचालित होते है जहां रोज लगभग चार हजार विद्यार्थी और अभिभावक आते जाते हैं वही पास ही मे एक धर्मशाला भी है । वही शराबी सड़क पर ही खाली बोतलें फोड़ते हैं जिसकी वजह से मुसीबतो का सामना करना पड़ता है। यही नहीं छात्राओं और महिलाओं का रास्ता रोकते हैं और लगातार बदतमीजी से तंग आकर यहां की महिलाएं शराबी और कर्मचारियों की पिटाई कर दुकानों में भी तोड़फोड़ कर चुकी है। फिर से यही हालत निर्मित हो रही है ऐसी स्थिति में रहवासियों का आक्रोश व गुस्सा फूटा तो किसी गंभीर घटना हो सकती है

इसे भी पढ़ें :- RBI ने बंधन बैंक और जनता सहकारी बैंक पर लगाया एक करोड़ रुपये का जुर्माना

इन दुकानों को हटाने की चल रही जंग

जवाहर मार्ग स्थित शराब दुकान के करीब सरकारी अस्पताल गर्ल्स कॉलेज कन्या शाला है अस्पताल कॉलेज और स्कूल आने वाली महिलाओं और छात्राओं के साथ छेड़खानी आम बात है यहां सराबी आपस में रोज झगड़ते हैं पालिया रोड पर घनी बस्ती में कलाली है 2 साल पूर्व रहवासियों के आंदोलन के बाद दुकान हटाने का आश्वासन दिया गया था मगर दुकान नहीं संचालित हो रही है पास में तो स्कूल और धर्मशाला के करीबी शराब दुकान का संचालन हो रहा है