ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
भोपाल पुलिस की ड्रोन कैमरों से सतत मॉनिटरिंग, लॉक डाउन का पालन में शासकीय आदेशों के उल्लंघन के कुल 3035 प्रकरण दर्ज, और भी हैं आकड़ें
May 3, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • क्राइम / अपराध
भोपाल पुलिस की ड्रोन कैमरों से सतत मॉनिटरिंग, लॉक डाउन का पालन में शासकीय आदेशों के उल्लंघन के कुल 3035 प्रकरण दर्ज, और भी हैं आकड़ें

TOC NEWS @ www.tocnews.org

भोपाल // विनय जी. डेविड 9893221036 

  • जिले के 32 थानों में अब तक कुल 198 कंटेनमेंट क्षेत्रों में रखी जा रही ड्रोन से विशेष नजर
  • ड्रोन से मॉनिटरिंग कर शासन के आदेशों का उल्लंघन करने वाले करीब 110 लोगों के विरुद्ध अब तक मामलें हुए दर्ज
  • बगैर मास्क लगाए बाहर निकलने वाले करीब 250 से अधिक लोगों के विरुद्ध 188 के तहत मामलें दर्ज
  • भोपाल पुलिस द्वारा लॉक डाउन का सख्ती से पालन करवाते हुए दिनांक 22 मार्च से आज तक शासकीय आदेशों के उल्लंघन के कुल 3035 प्रकरण किये गए दर्ज
  • भोपाल पुलिस ने लॉक डाउन अवधि से अब तक कुल 43 दिनों में औसतन प्रतिदिन 70 मामलें किये दर्ज

भोपाल : दिनांक 03 मई 2020 - वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं आमजन के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए एडीजी/आईजी भोपाल जोन, भोपाल श्री उपेंद्र जैन एवं डीआईजी शहर श्री इरशाद वली के दिशा निर्देशन में जोन 1, 2, 3 एवं जोन 4 के जिन थाना क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया सर्वाधिक है उन इलाकों में पुलिस द्वारा पैदल व वाहनों से पेट्रोलिंग, सीसीटीवी सर्विलांस व्हीकल्स से live वीडियोग्राफी के साथ ही लॉक डाउन का सख्ती से पालन करवाये जाने के उद्देश्य से कंटेनमेंट एरिया में *ड्रोन कैमरों* के माध्यम से विशेष निगरानी की जा रही है।

इसे भी पढ़ें :- हिस्ट्रीशीटर पत्रकार डकैती ब्लैकमेलिंग धोखाधड़ी के केस में गिरफ्तार, पत्नी भी गिरफ्तार, गई जेल, बड़े चैनल की ID बरामद, पुलिस ने किया कच्चा चिट्ठा तैयार

कोरोना संक्रमण की रोकथाम व बचाव हेतु भोपाल पुलिस विशेष सतर्कता बरतते हुए कंटेन्मेंट क्षेत्रों में PPE किट पहनकर लगातार निगरानी कर रही है। पेट्रोलिंग व सीसीटीवी सर्विलांस व्हीकल्स के अलावा मुख्यतः कंटेनमेंट क्षेत्र में *ड्रोन* से सतत निगाह रखी जाकर किसी भी प्रकार की गतिविधियों न हो इस पर प्रभावी अंकुश लगाया जा रहा है,

साथ ही थाना क्षेत्र के ऊंचे भवनों एवं रहवासी क्षेत्रों में छतों पर कोई गतिविधि न हो इसके लिए नियमित निगरानी की जा रही है। थाना क्षेत्र के मुख्य मार्गों, महत्वपूर्ण चौराहों व क्षेत्रों पर ड्रोन कैमरा द्वारा लॉक डाउन का पालन करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जा रही है। इसके अतिरिक्त सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने में भी ड्रोन का उपयोग विशेष रुप से किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :- प्रदेश के बाहर फँसे श्रमिक, जो मध्यप्रदेश अपने घर आना चाहते हैं, वे टोल-फ्री नम्बर 0755-2411180 पर करायें पंजीयन

भोपाल जिले के 32 थानों में अब तक कुल 198 कंटेनमेंट क्षेत्र बनाये जा चुके है जिनमें विशेष निगरानी हेतु सीसीटीवी सर्विलांस व्हीकल्स, लाइव वीडियोग्राफी, पेट्रोलिंग के अलावा ड्रोन से विशेष नजर रखी जा रही है। अब तक ड्रोन से मॉनिटरिंग कर शासन के आदेशों का उल्लंघन करने वाले करीब 110 लोगों के विरुद्ध अब तक मामलें दर्ज किए जा चुके है।

इसी तरह पुलिस चेकिंग व पेट्रोलिंग के दौरान बगैर मास्क लगाए बाहर निकलने वाले करीब 250 से अधिक लोगों के विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई कर विभिन्न थानों में 118 के तहत मामलें दर्ज किये जा चुके है।

इसे भी पढ़ें :- ग्रेसिम उद्योग को प्लांट संचालन अनुमति नहीं देने के संबंध में कलेक्टर और एसडीएम को शिकायत, गरमा गया यह मुद्दा

इसी तरह भोपाल पुलिस द्वारा लॉक डाउन का सख्ती से पालन करवाते हुए दिनांक 22 मार्च से आज तक शासकीय आदेशों के उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध प्रतिदिन औसतन 70 प्रकरण दर्ज कर लॉक डाउन अवधि से आज शाम तक कुल 43 दिनों में 3035 मामलें दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई की जा चुकी है।

इसमें प्रमुख रूप से अनुचित कारण बेवजह बाहर निकलना, बगैर अनुमति के दुकान खोलना, शब्जी बेचना, दो/चार पहिया वाहन से बेवजह बाहर घूमना, पैदल वॉक करना, बगैर मास्क लगाए बाहर निकलना आदि शामिल है, जिसमें धारा 188, 269 ipc, आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51बी एवं मोटर व्हीकल एक्ट आदि धाराओं के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किये जाकर वैधानिक कार्रवाई की गई है, जो निरन्तर जारी रहेगी।

इसे भी पढ़ें :- जबलपुर में धड़ल्ले से हो रही अवैध कच्ची शराब की तस्करी, 3 आरोपी गिरफ्तार, 57 लीटर कच्ची शराब जप्त की

अतः भोपाल पुलिस की सभी शहरवासियों से अपील है कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में व बचाव के लिए लॉक डाउन आदेशों व शासकीय दिशा निर्देश का नियमित पालन कर पुलिस व प्रशासन का सहयोग करें एवं एक जिम्मेदार व जागरूक नागरिक की भूमिका निभाएं।