ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
धान की खरीदी कोचियों एवं बिचौलियों पर बड़ी कार्यवाही, धान के अवैध परिवहन को रोकने के लिए ओडि़सा की सीमा पर कड़ी निगरानी
February 23, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
धान की खरीदी कोचियों एवं बिचौलियों पर बड़ी कार्यवाही, धान के अवैध परिवहन को रोकने के लिए ओडि़सा की सीमा पर कड़ी निगरानी

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822

शासन द्वारा इस वर्ष राज्य गठन के बाद सर्वाधिक धान खरीदी
रायगढ़ जिले में 4030846 क्विंटल धान की खरीदी

रायगढ़, छत्तीसगढ़ शासन द्वारा इस वर्ष राज्य गठन के बाद सर्वाधिक धान खरीदी की गई है। रायगढ़ जिले में इस वर्ष 4030846 क्विंटल धान खरीदी की गई है। जबकि पिछले वर्ष खरीदी 4655514 क्विंटल थी। इस वर्ष विगत वर्ष की तुलना में 175332 क्ंिवटल धान अधिक खरीदी की गई है।

रायगढ़ जिले में 123 उपार्जन केन्द्र है जिसमें खरीदी हेतु पर्याप्त व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की गई। सभी उपार्जन केन्द्र में व्यवस्थित खरीदी के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया जो प्रतिदिन धान खरीदी की मॉनिटरिंग करते थे और होने वाली धान खरीदी की जानकारी जिला कार्यालय को उपलब्ध कराते थे।

इसे भी पढ़ें :- पुरुष नसबंदी का आदेश पर गरमाई राजनीति, संचालक छवि भारद्वाज राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से हटाया

जिले के वास्तविक किसानों को उनकी उपज का मूल्य दिलाने के लिए कोचियों और बिचौलियों पर बड़ी कार्यवाही की गई। ओडि़सा का सीमावर्ती जिला होने के कारण सीमा पर कड़ी निगरानी रखी गई। जिले में विभिन्न स्थानों पर 11 चेक पोस्ट बनाया गया है। जिसमें राजस्व, खाद्य, पुलिस, वन विभाग के अमलों को तैनात किया गया। अवैध परिवहन को रोकने के लिए कड़ी कार्यवाही की गई। 42 वाहनों को जब्त किया गया। कोचियों से 51452.45 क्ंिवटल एवं अंतर्राज्जीय 3458.1 क्विंटल धान जब्त किया गया।

इसे भी पढ़ें :- फर्जी वेबसाइट्स घोटाला : जनसंपर्क विभाग के पीएस संजय शुक्ला व आयुक्त पी. नरहरि को हाईकोर्ट का अवमानना नोटिस

किसानों की समस्या के निदान के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया गया। साथ ही धनहा एप के माध्यम से किसानों को सुविधा प्रदान की गई है। रायगढ़ जिले में वर्ष 94661 किसान पंजीकृत हुए है इसमें से 90239 किसानों ने अपना धान समितियों के माध्यम से बेचा। कुल पंजीकृत रकबों में से 87.41 प्रतिशत रकबे पर धान विक्रय किया गया है। उपार्जन केन्द्रों में रखे धान सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की गयी। असामयिक वर्षा से धान को किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं हुआ।

इसे भी पढ़ें :- कलेक्टर को हटाने माफिया से कांग्रेस नेता ने लिए 50 लाख !

इसे भी पढ़ें :- कलाकारों के चयन प्रक्रिया से गरमाई सियासत, प्रशासनिक अधिकारी व कलाकार कि हुई बातचीत का ऑडियो वायरल