ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
दिगर प्रांतों में फंसे हुए रायगढ़ के रहवासियों की, कराई जा रही है मदद
April 12, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
दिगर प्रांतों में फंसे हुए रायगढ़ के रहवासियों की, कराई जा रही है मदद

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

  • जिले के नोडल अधिकारियों द्वारा की जा रही है मॉनिटरिंग
  • दिगर राज्यों के स्थानीय प्रशासन व पुलिस से ली जा रही है मदद
  • रायगढ़ के अस्थाई कैंपों में ठहराए गए श्रमिक भी प्रशासन व पुलिस की देखरेख में

लाक टाउन दौरान एक जिले से दूसरे जिले तथा एक राज्य से दूसरे राज्य में लोगों की आवाजाही पर रोक होने से रायगढ़ जिले के रहवासी छत्तीसगढ़ सहित देश के विभिन्न जिलों में फंसे हुए हैं । उसी प्रकार दीगर प्रांत के रहवासी व श्रमिकों को स्थानीय प्रशासन व पुलिस द्वारा अस्थाई कैंपों में रखवाया गया है । जिनके रहने, खाने की व्यवस्था देखने के लिए जिला प्रशासन व पुलिस विभाग से नोडल अधिकारी नियुक्त है । वे इन कैम्पो में ठहराए गए व्यक्तियों को रहने खाने आदि की पर्याप्त व्यवस्था है या नहीं इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं ।

इसी प्रकार जिला प्रशासन व पुलिस विभाग से नोडल अधिकारी बनाए गए हैं जो दिगर प्रांत में फंसे हुए रायगढ़ के रहवासियों को इस लाक डाउन दौरान रहने खाने की व्यवस्था है या नहीं इसकी जानकारी लेकर उन्हें वहां के स्थानीय प्रशासन व पुलिस से मदद मुहैया करवा रहे हैं ।

पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह के दिशा निर्देशन पर एडिशनल एसपी रायगढ़ श्री अभिषेक वर्मा को नोडल अधिकारी एवं उप पुलिस अधीक्षक (आईयूसीएडब्ल्यू) श्रीमती गरिमा द्विवेदी को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

डीएसपी गरिमा द्विवेदी व उनके स्टाफ द्वारा पुलिस कंट्रोल रूम रायगढ़ से प्रतिदिन दिगर प्रांतों में फंसे हुए रायगढ़ के रहवासियों से मोबाइल पर सीधे संपर्क कर उनके रहने खाने आदि की जानकारी ले रहें हैं और उन्हें वहां के स्थानीय प्रशासन अथवा पुलिस से यथासंभव मदद करा रहे हैं ।

डीएसपी गरिमा द्विवेदी ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम रायगढ़ से रायगढ़ के रहवासियों को कॉल कर उनका कुशलक्षेम पूछने पर वे पुलिस को साधुवाद देते हैं कि उनके जिले की पुलिस को उनकी फिक्र है । वहीं कुछ श्रमिकों के मदद कराए जाने पर उनके द्वारा पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल कर मदद के लिए साधुवाद भी दिया गया है ।

साथ ही इस जिले के अस्थाई कैंपों में रह रहे लोगों की भी जानकारी मोबाइल से सीधे दिगर प्रांत के श्रमिकों से डीएसपी गरिमा द्विवेदी द्वारा लिजा रहा है अब तक जिले के कैंपों में रह रहे रहवासियों द्वारा रहने, खाने को लेकर कोई समस्या होना नहीं बताया गया है ।

इसके अलावा दिगर प्रांत के लोग जो किराए के मकानों में निवासरत है अथवा ड्राइवर या कोई और कार्य करते हैं, इस लाक डाउन में भोजन आदि की समस्या होने की जानकारी मिलने पर थाना प्रभारियों द्वारा यथासंभव मदद किया जा रहा है ।