ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 
February 7, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • क्राइम / अपराध
दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

मृतक शहजाद का दो दिन बाद 9 फरवरी को ही पंचेड़ की फरीदा बी से होना था निकाह, 11फरवरी को आएगी बहन अफसाना की बारात।

नागदा. शहर से लगभग 15 किमी की दुरी पर बसे गांव हिड़ी में बुधवार की रात लगभग 10.30 से 11 बजे के बिच दो भाईयों ने घर के सामने रहने वाले दूल्हे शहजाद की गला रेतकर जघन्य हत्या कर दी। इस वारदात को मृतक शहजाद के घर से 100 मीटर की दूरि पर खेत मे चौधरी परिवार के दो भाईयाें ने इस घटना को अंजाम दिया। 

 मंडी पुलिस के मुताबिक शहजाद लगभग एक साल से चौधरी परिवार की छोटी बेटी पर बुरी नियत रखता था। आए दिन छेड़छाड़ करता था। इससे गुस्साए संदीप चौधरी (20) और नाबालिग भाई ने धारदार हथियार से शहजाद का गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया । देखा जाये तो दोनों भाईयों मे गुस्सा इतना भर गया था कि उन्होंने मृतक के शरीर पर चाकू से लगभग एक दर्जन से भी अधिक वार किए है। पुलिस ने दोनों आरोपियों सहित इन्हें शरण देने वाले दिनेश चौधरी व एक अन्य नाबालिग को महज 12 घंटे की मेहनत में ही धर दबोचा। 

नागदा मंडी थाने में प्रेस वार्ता में निर्मम हत्याकांड का खुलासा किया गया । इस जघन्य हत्या काण्ड में पुलिस ने नाबालिग आरोपी के चचेरे भाई संदीप को मुख्य आरोपी बनाया, वही नाबालिग चौधरी परिवार की बेटी का सगा भाई है।

दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 

हत्या करने के बाद बानंका गांव में छिपे थे आरोपी

प्रेसवार्ता में एएसपी आकाश भूरिया, सीएसपी मनोज रत्नाकर, थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा, बिरलाग्राम थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी ने बताया कि बुधवार रात 11 बजे हत्या हुई थी। हत्या के बाद आरोपी संदीप और नाबालिग भाई बाइक से गांव नारायण पहुंचे। यहां एक ओर नाबालिग रिश्तेदार को बुलाकर उसकी कार से दोनो गांव बानंका जाकर छिपे हुए थे। आरोपियों से पूछताछ में बताया कि शहजाद नाबालिग की बहन पर बुरी नियत रखता था और परेशान करता था। इस बात को लेकर ही उन्होंने उसकी हत्या की योजना बनाई थी। संदीप मोबाइल का पेटर्न लॉक खुलवाने के बहाने उसे लेकर आया। उसके बाद लोहे के बक्के व स्टील के चाकू से उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद संदीप के भाई दिनेश से साफ कपड़े मंगवाकर वह बाइक से फरार हो गए। आरोपियों ने हत्या में इस्तेमाल हथियार रमेश माली के कुएं के पास जमीन में गाढ़कर छुपा दिए। मृतक का मोबाइल गांव के ही तालाब में फेंक दिया। पुलिस ने हथियार, खून से सने कपड़े और बाइक जब्त की है। मोबाइल की तलाश में पुलिस तालाब का पानी खाली करवा रही है। जिसके लिये पुलिस ने मोटर भी लगवा दी है।

दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 

मृतक के परिजनों ने आरोपियो को पहले ही पकड़ लिया था, परंतु उन्हे पता नहीं था की हत्या हो गई है

मृतक के भाई शरीफ ने बताया संदीप और नाबालिग दोनों ही शहजाद की हल्दी के कार्यक्रम में शामिल हुए थे और नाचे भी थे। बुधवार रात 10 बजे संदीप शहजाद के पास आया तो वह उनके साथ चला गया। कुछ देर बाद पास में ही एक अन्य समाज में बारात आने पर डीेज का शोरगुल हो रहा था। इस दौरान अासिफ और समरोज मृतक के परिचित घर के पीछे गए तो उन्होंने दो युवकों को भागकर घटनास्थल से 100 मीटर दूर कुएं के पास छिपते हुए देखा। आसिफ व समरोज को लगा चोर है, उन्होने इन दोनों को पकड़ भी लिया, लेकिन उस दौरान यह पता नहीं था कि यह शहजाद की हत्या कर भाग रहे है। तब शहजाद के पिता सत्तार खान ने उन्हें छुड़ाया। दूल्हा शहजाद काफी समय तक नजर नहीं आया तो शरीफ व अन्य ने उसे खोजा, तब उसका लहलुहान शव खेत में मिला। तब तक संदीप चौधरी और नाबालिग फरार हो चुके थे।

दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 

2 दिन बाद 9 फरवरी को पंचेड़ की फरीदा बी से हाेना था शहजाद का निकाह

सत्तार खान के 2 बेटे और 2 बेटी है। सबसे बड़ा शहजाद था, जो गांव के ही राजेंद्रसिंह का ट्राला चलाता था। शहजाद दो या तीन दिन में एक बार गांव लौटता था। शहजाद का निकाह 2 दिन बाद यानि 9 फरवरी को रतलाम जिले के नामली के पास पंचेड़ गांव में होना था। निकाह की तैयारियों के बीच । शहजाद को दो वक्त की हल्दी भी लग चुकी थी। वहीं शहजाद की छोटी बहन अफसाना का निकाह खजूरिया के नौशाद मंसूरी से तय हुआ था। इसके लिए बारात 11 फरवरी को आना थी, अफसाना को भी हल्दी लग चुकी है। भाई की मौत के बाद अब अफसाना का निकाह सादगी के साथ होगा।

दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 

जनाजा रोक परिजन बोले, आरोपी बालिग है, आप नाबालिग मत बनाइए

गुरुवार सुबह से गांव में सन्नाटा पसरा हुआ था। आरोपी के घर के बाहर एतिहायत के दौर पर इंगोरिया थाना प्रभारी रवींद्र कुमार को पुलिस बल तैनात कर रखा था, हालांकि आरोपी के परिवार को कोई ठिकाना नहीं था। पीएम के बाद दोपहर 12.30 बजे शहजाद का शव गांव पहुंचा। एएसपी, सीएसपी मय पुलिस के साथ मौके पर रहे। दोपहर 1.45 बजे नमाज के बाद परिजनों ने जनाजा अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उठाने की बात कहीं। सीएसपी मनोज रत्नाकर व थाना प्रभारी श्यामचंद्र ने समझाइश दी तो जनाजा उठाया गया, लेकिन दोबारा उसे रोक दिया गया। परिजन बोले जिस आरोपी को पुलिस नाबालिग बता रही है, वह बालिग है। पंचायत से रिकॉर्ड लेकर उसे भी बालिग में दर्शाया जाए। पुलिस ने आश्वासन दिया कि कार्रवाई में कोई कोताही नहीं होगी, तब जाकर जनाजा आगे बढ़ा।

मोबाइल में छिपे हैं कई राज, कॉल डिटेल का भी इंतजार

पुलिस ने प्रारंभिक रुप से मामले का खुलासा कर दिया है, लेकिन हत्या की मुख्य वजह का राज शहजाद का मोबाइल ही खोल सकता है। जिसे आरोपियों ने पानी में फेंक दिया है। अगर पुलिस इसका डाटा रिस्टोर कर सकी तो हत्या की मुख्य वजह सामने आ जाएगी। हालांकि पुलिस ने साइबर टीम से मृतक और आरोपियों के नंबर की कॉल डिटेल मांगी है। जिसके आने का इंतजार पुलिस कर रही है।