ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
एसडीएम का ड्राइवर कंटेनमेंट एरिया में घूम रहा था बेखौफ, धारा 144 के उल्लंघन पर 188 में मामला दर्ज
April 13, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
एसडीएम का ड्राइवर कंटेनमेंट एरिया में घूम रहा था बेखौफ, धारा 144 के उल्लंघन पर 188 में मामला दर्ज

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

खुद की जान खतरे में डाल रहे ड्रायवर को नही थी चिंता साथ घूम रहे अधिकारियों की, धारा 144 के उल्लंघन पर 188 मे मामला दर्ज

नागदा जं.। औद्योगिक शहर नागदा में कोविड -19 कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है जिसे लेकर पुलिस व प्रशासन के अधिकारी दिन-रात व्यवस्थाओं को सम्भालने में लगे हैं लेकिन प्रशासन के जवाबदार अधिकारियो के पहरेदार इस भयावह त्रासदी को हल्के में ले रहे है।

पुलिस प्रशासन द्वारा सील किए हुवे कंटेनमेंट क्षेत्र में बिना अनुमति के बेखौफ दिन मे कईयों बार आ जा रहे थे। ऐसा करके वे न केवल खुद की जान खतरे में डाल रहे थे बल्कि साथ घूमने वाले उच्च अधिकारियों एव कर्मचारियों सहित नगर वासियों की जान भी खतरे में डाल रहे थे।

इसे भी पढ़ें :- नायब तहसीलदार ने मीट किया जप्त, सड़कों पर बनाया मुर्गा, लॉक डाऊन और शहर कर्फ्यू को लेकर प्रशासन हुआ सतर्क

आप को बता दे की अनुविभागीय अधिकारी श्री आरपी वर्मा के ड्रायवर जमील जो नई दिल्ली कंटेनमेंट एरिया में ही रहते है दिन भर मे दो से तीन बार नियमों का उल्लंघन कर अपने घर जाते ओर आते थे । दरअसल नई दिल्ली क्षेत्र का एक युवक एवं उसकी बहन की रिपोर्ट कोरोना संक्रमण की वजह से पॉजिटिव आने के बाद पुलिस व प्रशासन ने पूरे नई दिल्ली क्षेत्र को सील कर कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया ।

इनका क्या कहना है जाने - श्याम चन्द्र शर्मा, थाना प्रभारी ,नागदा

इसके बाद भी एसडीएम श्री वर्मा का ड्रायवर जमील शेषसाइ कालेज के पास से कंटेंनमेंट एरिया की दीवार को फांद कर अपने घर दिन में दो से तीन बार खाना खाने के लिए जाते थे। ड्रायवर की इस दादागिरी की जानकारी पुलिस कर्मियों ने एसडीएम वर्मा को दी थी लेकिन इसके बावजूद ड्रायवर जमील दादागिरी करता रहा।

इसे भी पढ़ें :- बलात्कार या दबाव : थाना प्रभारी भी असमंजस में, पुलिस को अब युवती के बयानों पर शंका

जब इस बात की जानकारी एसडीएम वर्मा को दी गई तो उनका कहना था कि मामले को गंभीरता से ले कर जाच करवाई जायेगी । जिस पर नायब तहसीलदार के द्वारा एफ आई आर करवाई गई जिस पर नागदा मण्डी थाने ने 188 मे अपराध पंजीबद्ध किया है।