ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
गांव सूने खेत गुलजार, बारिश का इंतजार प्री मानूसन के पूर्व ही होने लगी क्षेत्र में बोवनी
June 13, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
गांव सूने खेत गुलजार, बारिश का इंतजार  प्री मानूसन के पूर्व ही होने लगी क्षेत्र में बोवनी

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल 7509020406 

मुलताई। मुलताई क्षेत्र में इन दिनों हल्की बारिश के बाद गांव सूने हो गए हैं वहीं किसानों द्वारा खेत की जमीन तैयार करने एवं बोवनी करने से खेत गुलजार नजर आ रहे हैं। हल्की बारिश के बाद प्री मानसून के पूर्व ही किसान खेतो में बोवनी करने लगे हैं वहीं कृषि संबन्धित दुकानों पर किसानों की खाद-बीच को लेकर भीड़ बढ़ रही है। 

पूरे क्षेत्र में किसानों ने अब घरों से खेतों की ओर रूख कर दिया है ताकि प्री मानसून का भी वे पूरा फायदा उठा सकें । बोवनी के कारण इन दिनों गांव सूने नजर आ रहे हैं तथा अधिकांश ग्रामीण खेतों में व्यस्त हैं। कहीं खेत बनाए जा रहे हैं तो कहीं बोवनी की जा रही है जिससे गांवों की अपेक्षा अब खेतों में अधिक चहल-पहल नजर आ रही है। किसानों के अनुसार कुछ दिनों आए तूफान के कारण पूरे क्षेत्र में बारिश हो चुकी है जो बोवनी के लिए पर्याप्त है, 

इधर एक दो दिनों से आसमान पर बादल छाए हुए हैं तथा शुक्रवार रात बारिश होने से किसानों को बोवनी के लिए अच्छा अवसर प्राप्त हो गया है। किसानों ने बताया कि यदि अभी बोवनी हो जाती है तो बारिश का पूरा फायदा मिल सकता है इसलिए हर एक किसान फिलहाल खेत बनाकर बोवनी में व्यस्त नजर आ रहा है। बताया जा रहा है कि दो से तीन दिनों में प्री मानसून आ सकता है जिससे पूरे क्षेत्र में खासी बारिश हो सकती है। 

इधर मौसम में नमी के बावजूद उमस बनी हुई है जिससे नगर सहित पूरे क्षेत्रवासी गर्मी से बेहाल हैं। रात में बारिश तथा दिन में तेज धूप के कारण जमीन से वाष्पित होते पानी के कारण उमस बढ़ रही है इसलिए बारिश के बावजूद अभी भी कूलर एवं एसी बंद नही हुए हैं। 

कृषि संबन्धित दुकानों में बढ़ी भीड़

नगर में कृषि उपकरण सहित खाद एवं बीज की दुकानों में विगत एक सप्ताह से जमकर भीड़ नजर आ रही है वहीं दो से तीन दिनों में भीड़ और अधिक बढ़ी है। ग्रामीण अंचलों से नगर में पहुंचकर किसान कृषि उपकरणों सहित खाद एवं बीज ले रहा है ताकि जितनी जल्दी हो सके बोवनी की जा सके। दुकानों में भी विभिन्न किस्म के बीज उपलब्ध है.

जिससे किसान अपनी क्षमता के अनुसार क्रय कर रहा है। इधर कृषि उपकरणों की भी बिक्री बढ़ी है तथा किसान विभिन्न साधनों से कृषि उपकरण खेतों के लिए ले जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि कृषि संबन्धित दुकानों को गुमाश्ता एक्ट से भी फिलहाल छूट मिली हुई है ताकि किसानों को बंद के दिन भी कृषि संबन्धित सामान उपलब्ध हो सके।