ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
गौतस्करी मालथौन पुलिस ने मारुति कंट्रेनर ट्रक से सौ से ज्यादा पशुओं को कटने से बचाया
February 4, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • क्राइम / अपराध
गौतस्करी मालथौन पुलिस ने मारुति कंट्रेनर ट्रक से सौ से ज्यादा पशुओं को कटने से बचाया

TOC NEWS @ http://tocnews.org/

ब्यूरो चीफ मालथौन, जिला सागर // अनिल तिवारी

मालथौन। एमपी में गौतस्करी चरम सीमा पर चल रही है गौतस्करों के हौसले बुलंद हैं बड़े बड़े वाहनों में बेख़ौफ़ तरीको से मवेशियों को ठूस ठूसकर वाहनों से परिवहन कर कत्लखानों में परोसा जा रहा हैं।
विगत महीने में जिले के थाना अंतर्गत गौतस्करी के कई मामले सामने आ चुके हैं जिससे अंदाजा लगाया जा सकता प्रदेश में बेख़ौफ़ तरीके से गायों की तस्करी हो रही है ।

मंगलवार की सुबह नेशनल हाइवे पर को एक बड़े मारुति कंटेनर ट्रक पकड़ा गया है मारुति कार की सप्लाई की जगह अवैध रूप कंट्रेनर में गायों की तस्करी करते पकड़ा गया हैं जिसमे करीब दो सौ के करीब मवेशियों से भरा हुआ था जिसमें खबर है कि करीब एक दर्जन गायों की सांस रुध्ने से उसके अंदर मौत हो गयीं , पिछले माह 2 जनवरी में बांदरी थाना अंतर्गत एक कंटेनर गौवंश से भरा अवैध रूप से पकड़ा गया था। उक्त पकड़ा गया मारुति कंटेनर विजयपुर थाना श्योरपुर जिले से भरा गया कितने थानों टोल नाको चेक पोस्ट से बगैर रोक टोक चलकर आया वह तो मुखविरो की भेंट चढ़ गया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर से सूचना मिली थी की एक कंटनेटर में अवैध रूप से गोवंश का परिवहन कर ले जा रहा हैं सूचना पर हाइवे पर वाहनों की चेकिंग लगाई गई ,जिसमें कंटनेटर क्रमांक एच आर 55 एल 1647 की तलाशी ली गयी जिसमें जानवर भरे हुए थे पकड़े गये आरोपियों से मौके पर पूछताछ की गई ,जिसमें बताया गया कि थाना विजयपुर श्योरपुर जिले से जानवरों को भरकर बरघाट सिवनी जिला लेकर जा रहे थे।

मौके से मारुति कंट्रेनर क्रमांक एच आर 55 एल 1647 में पकड़े आरोपीगण अनीश पिता गनी खान उम्र60 वर्ष , इशराद पिता रसूल मुहम्मद 30 बर्ष , नूर आलम पिता मुहम्मद कलाम 25 बर्ष निवासी चांदपुर जिला भोगनीपुर उत्तर प्रदेश बताये गये। जप्त किये गए मारुति कन्टेन्टर में भरे हुए गोवंश को खुरई गौशाला पहुचाया गया है कंटनेटर जप्त कर आरोपियों पर पशुकूरता अधिनियम के तहत विभिन्न धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया हैं ।