ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
जनप्रतिनिधियों के साथ हुई जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समूह की बैठक
April 15, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
जनप्रतिनिधियों के साथ हुई जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समूह की बैठक

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ गाडरवाराजिला नरसिंहपुर // दीपक अग्रवाल : 9039 5134 65 

नरसिंहपुर. जिले में कोविड- 19 कोरोना वायरस से निपटने के लिए गठित जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक सांसद द्वय श्री कैलाश सोनी व श्री राव उदय प्रताप सिंह, स्थानीय विधायक श्री जालम सिंह पटैल, गाडरवारा विधायक श्रीमती सुनीता पटैल व तेंदूखेड़ा विधायक श्री संजय शर्मा सहित कलेक्टर श्री दीपक सक्सेना, पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह, एडीएम श्री मनोज ठाकुर, एएसपी श्री राजेश तिवारी, जिला पंचायत सीईओ श्री कमलेश भार्गव मौजूदगी में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई।

बैठक का मुख्य उद्देश्य जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु लिए गए निर्णयों की समीक्षा कर आने वाले समय में वायरस को फैलने से बचाने के लिए बेहतर रणनीति तैयार करना था।

इसे भी पढ़ें :- लॉक डाउन में एसडीएम की धर्मपत्नी सरकारी वाहन से सीख रही थी ड्राइविंग, पत्नी की करतूत से हटाए गए एसडीएम, वीडियो वॉयरल

जनप्रतिनिधियों द्वारा कहा गया कि जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा शांति और कानून व्यवस्था के लिये की जा रही कार्यवाही प्रशंसनीय एवं सराहनीय है। पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह ने बताया कि जिले में पुलिस द्वारा लगातार पेट्रोलिंग और वाहन चैकिंग कर बाहर से आने-जाने वाले वाहनों की चैकिंग कर लोगों को अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलने और अन्य लोगों के संपर्क में नहीं आने की समझाईश दी जा रही है। कोरोना संक्रमण के दौरान संपूर्ण राज्य और आस-पास के राज्यों व शहरों में मजदूरी करने गये लोगों के वापस आने पर उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराकर उनके आने-जाने की लगातार व्यवस्था कराई। अनुभाग के थानों में उपलब्ध बल के साथ ही शहर की छोटी-छोटी गलियों, मोहल्लो और ग्रामों में लगातार 16 से 18 घंटे भ्रमण कर आम जन मानस को घर से बाहर नहीं निकलने, मुंह पर मास्क लगाने, बार-बार हाथों को साबुन से धुलने और सोशल डिस्टेंस बनाये रखने के लिये लगातार आव्हान कर लोगों को समझाईश दी जा रही है।

इसे भी पढ़ें :- जनसंपर्क अधिकारी आनंद जैन के खिलाफ पत्रकारों का गुस्सा, मनपसंद पत्रकारों को ख़बर बाकी को बाबाजी का ठुल्लू

जिले की सीमा पर 6 चेकपोस्ट बनाए गए हैं। इसी के साथ प्रशासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि जिले से जुड़ी हुई पगडंडियों को भी पूर्णतः सील किया जाएगा, क्योंकि अधिकतर देखा गया है कि दूसरे जिले एवं राज्यों के लोग इन छोटी पगडंडियों के सहारे जिले में प्रवेश कर रहे हैं। होम डिलीवरी के माध्यम से लोगों की डिमाण्ड अनुरूप उन तक किराने का सामान पहुंचाया जा रहा है। भोजन वितरण का कार्य भी नियमित तरीके से किया जा रहा है, जिससे हर जरूरतमंद तक मदद पहुंचे।

जनप्रतिनिधियों ने जनता से अनुरोध किया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकें साथ ही लोगों को यह भी समझाएं कि यदि जिले के बाहर से कोई भी व्यक्ति किसी कच्चे रास्ते या पगडंडी से जिले में प्रवेश करता है तो एक जिम्मेदार नागरिक के नाते से लोग प्रशासन को इसकी सूचना तुरंत उपलब्ध कराएं।

इसे भी पढ़ें :- होम क्वारेंटाइन में वृद्ध की मौत, फर्श और घर की दीवारों पर रेंग रहे थे कीड़े, योगी सरकार के खोखले दावों की कहानी

जनप्रतिनिधियों ने दिये सुझाव

बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा सुझाव स्वरूप कहा गया कि किसानों को उनकी फसल के लिये सिंचाई हेतु जल की उपलब्धता हो, इसके लिए बरगी परियोजना के तहत जल प्रदाय किया जाये। ग्रामीण क्षेत्रों के ट्रांसफार्मर खराब हो रहे हैं, इन्हें दुरूस्त करवाया जाये। किसानों द्वारा उनकी ऋण पुस्तिका दिखाकर कृषि कार्य हेतु पेट्रोल, डीजल एवं मोटर साईकिल उपयोग की अनुमति प्रदान की जाये। चिकित्सालयों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं की व्यवस्था क्रियान्वित हो। जिन गेहूं उपार्जन केन्द्रों की मैपिंग गलत हुई है उन्हें सही किया जाये। बैंकों द्वारा हितग्राहियों को पेंशन वितरण की दिन- प्रतिदिन मॉनीटरिंग की जाये। आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाहियां बढ़ाई जाये। होम डिलेवरी व्यवस्था के रजिस्टर्ड विक्रेताओं की संख्या बढ़ाई जाये। जिले में अभी कोई भी कोरोना का पॉजीटिव केस नहीं आया है, इसके लिए सभी टोटल लॉक डाउन का पालन करने की अपील भी की गई।