ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
जनसंपर्क की नीतियों के विरोध में हुआ नवगठित "संयुक्त पत्रकार संघर्ष मोर्चा" का गठन, पत्रकारों के हितों में एकजुट, अब उतरेंगे मैदान में
March 8, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
जनसंपर्क की नीतियों के विरोध में हुआ नवगठित "संयुक्त पत्रकार संघर्ष मोर्चा" का गठन, पत्रकारों के हितों में एकजुट, अब उतरेंगे मैदान में

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

भोपाल। आज अप्सरा रेस्टोरेंट रविंद्र भवन मैं नवगठित संयुक्त पत्रकार संघर्ष मोर्चा की बैठक संपन्न हुई जिसमें मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अपनाई जा रही पत्रकार विरोधी नीतियों के खिलाफ संघर्ष करने की रूपरेखा पर चर्चा की गई।

संयुक्त पत्रकार संघर्ष मोर्चा की बैठक निर्णय किया गया है 16 मार्च को जनसंपर्क विभाग की नीतियों के विरोध में भोपाल में धरना प्रदर्शन किया जाएगा और अगर मोर्चा की मांगों को दरकिनार किया गया तो यह धरना प्रदर्शन नियमित तौर पर जारी रहेगा।

मोर्चा की बैठक में पत्रकारों को सूचीबद्ध करना अधिमान्य पत्रकारों के साथ-साथ गैर अधिमान्य पत्रकारों को जिला जनसंपर्क कार्यालय द्वारा सूचीबद्ध किया जाना उन्हें शासन स्तर पर परिचय पत्र जारी करना, साप्ताहिक समाचार पत्र पत्रिका नियमित कम से कम साल में छह बार विज्ञापन दिया जाना, जो विज्ञापन पूर्व में दिए गए हैं जिनका भुगतान शेष है उन्हें शीघ्र भुगतान किया जाए, शीघ्र पत्रकारों की सुरक्षा के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून लागू किया जाए,

जनसंपर्क के द्वारा विभिन्न समितियां जो बनाई गई हैं निष्क्रिय सभी समितियों को भंग करने एवं सभी पत्रकार संगठन से प्रतिनिधि समिति में शामिल कर नई समिति बनाए जाने की मांग, ऐसी विभिन्न मांगे जिनके समर्थन में संयुक्त पत्रकार संघर्ष मोर्चा अपने रणनीति बनाकर मैदान में उतरेगा, मोर्चा ने अभी अपनी कोर कमेटी के अनेकों सदस्यों को नियुक्त किया है जो जल्द ही इन सभी मांगों को लेकर समाचार पत्र पत्रिकाओं के स्वामी एवं पत्रकारों के हितों में रणनीति बनाकर अपनी मांगों के आंदोलित होंगे ।