ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
जन्मोत्सव में भीड़ वाले आयोजनों पर रहेगा प्रतिबंध, मां ताप्ती ट्रस्ट की बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय
June 14, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
जन्मोत्सव में भीड़ वाले आयोजनों पर रहेगा प्रतिबंध, मां ताप्ती ट्रस्ट की बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल 750902

मुलताई। मां ताप्ती जन्मोत्सव आगामी 27 जून को मनाया जाना है, जिसे लेकर कोविड संक्रमण के चलते एैसे कोई भी आयोजन नही किए जाएगें, जिसमें भीड़ जुटती हो। उक्त निर्णय रविवार ताप्ती मंदिर के सामने परिसर में आयोजित मां ताप्ती ट्रस्ट की बैठक में लिया गया। 

इस दौरान एसडीएम सीएल चनाप, एसडीओपी नम्रता सोंधिया, सीएमओ राहुल शर्मा, थाना प्रभारी मनोज सिंह, तहसीलदार सुधीर जैन सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी, पत्रकार एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे। बैठक में मां ताप्ती ट्रस्ट के अध्यक्ष तहसीलदार सुधीर जैन ने बताया कि वर्तमान में कोविड-19 के संक्रमण के कारण शासन के नियमों का पालन करना आवश्यक है इसलिए मां ताप्ती जन्मोत्सव पर भीड़ वाले कोई भी आयोजन नही किए जाएगें। उन्होने कहा कि सभी नगर तथा क्षेत्रवासियों से अपील है कि अपने घरों में ही मां ताप्ती की पूजा अर्चना कर जन्मोत्सव मनाए। 

इस संबन्ध में सीएमओ राहुल शर्मा ने बताया कि नगर पालिका द्वारा सभी नगरवासियों से अपील की जाएगी कि लोग घरों में रहकर ही मां ताप्ती का जन्मोत्सव मनाएं। इधर एसडीएम सीएल चनाप ने बताया कि कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत कोई भी भीड़ वाले आयोजन संपन्न नही किए जाएगें। गौरतलब है कि एक दिन पूर्व ही मां ताप्ती जन्मोत्सव समिति द्वारा ताप्ती जन्मोत्सव सादगी पूर्ण मनाने का निर्णय लिया गया जिसके बाद मां ताप्ती ट्रस्ट के द्वारा भी भीड़ वाले आयोजन नही करने का निर्णय लिया गया है। 

शोभायात्रा, चुनरीयात्रा एवं भंडारे नही होगें आयोजित

मां ताप्ती जन्मोत्सव पर प्रतिवर्ष नगर में मां ताप्ती की शोभायात्रा सहित चुनरी यात्रा निकाली जाती है तथा जगह-जगह भंडारों का आयोजन होता है जिसमें भारी भीड़ उमड़ती है। लेकिन इस वर्ष कोरोना संक्रमण को लेकर प्रशासन अलर्ट है इसलिए भीड़ वाले आयोजन संपन्न नही हो सकेगें। बताया जा रहा है कि इस वर्ष शोभायात्रा, चुनरी यात्रा एवं भंडारों का आयोजन नही किया जाएगा। इसके साथ ही मां ताप्ती मंदिर में पूजा अर्चना पर भी प्रतिबंध रहेगा सिर्फ बाहर से ही मां की प्रतिमा के दर्शन किए जा सकते हैं। इस दौरान ताप्ती तट पर शासन-प्रशासन द्वारा नियमों का पालन भी कराया जाएगा ताकि कहीं भीड़ ना हो सके।