ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
झूठे केस में फंसाने की शाजिस करने वाला थाना प्रभारी सुभाष सुलिया को इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने 5 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा
November 1, 2019 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
Tanda police station in-charge, Subhash Sulia, Lokayukta police , arrested, bribe, 5 thousand

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

टांडा थाना प्रभारी सुभाष सुलिया को इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने 5 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा कार्रवाई जारी

धार. एक रिश्वतेखोर टीआई ने गरीब के परिवार को झूठे केस में फंसाने की धमकी देना शुरू किया। दरअसल प्रेमसिंह डावर के भाई रीषू के खिलाफ मुकदमा दर्ज था।

पूरे परिवार को पुलिस की उलझन से बचाने के लिए टीआई ने 20 हजार रुपए मांगे थे। पीडि़त ने लोकायुक्त की शरण ली। लोकायुक्त टीम ने थाना परिसर में टीआई को उसके निवास पर पांच हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया।

इसे भी पढ़ें :- ट्रेलर वीडियो देखें : “दबंग 3” के ट्रेलर में दिखी चुलबुल पांडे और बाली के बीच दमदार फेसऑफ की झलक, फ़िल्म में होगी एक्शन की भरमार!

कार्रवाई की पुष्टि लोकायुक्त डीएसपी एसएस यादव ने की है

रिश्वतखोर अधिकारियों के हौंसले इतने बुलंद है कि अब थाने परिसर में खुलेआम पैसा ले रहे है। ऐसा ही मामला टांडा थाने में हुआ। यहां के टीआई ने एक विवाद में नाम नहीं बढ़ाने की बात पर 20 हजार रुपए की मांग की। फरियादी ने लोकायुक्त में शिकायत की। इसके बाद लोकायुक्त ने इसे रंगे हाथ पकड़ लिया। इस टीआई ने थाने में ही पांच हजार रुपए लिए। रुपए लेते ही लोकायुक्त टीम ने इसे रंगे हाथों दबोच लिया।

इसे भी पढ़ें :- बिरलाग्राम पुलिस ने अवैध शराब बिक्री के अड्डों पर मारी दबिश, 5 लोगों को शराब केे साथ किया गिरफ्तार

टांडा के पास पिपलदलिया में रहने प्रेमसिंह डावर के भाई रीषू के खिलाफ मुकदमा दर्ज था। थाना प्रभारी सुभाष सुल्या पूरे परिवार को प्रकरण में झूठा फंसाने की धमकी दे रहा था। टीआई ने धमकी से प्रेमसिंह तंग आ गया था। टीआई ने परिवार को प्रकरण से बचाने के लिए 20 हजार रुपए की मांग प्रेमसिंह के सामने रखी।

इसे भी पढ़ें :- चाकू से किये अंधाधुंन वार से युवक की हत्या, शहर में मची सनसनी, ये रही वीडियो में पूरी कहानी

प्रेमसिंह ने आठ हजार रुपए उसको पहेल दिए। प्रेमसिंह ने लोकायुक्त की शरण ली। लोकायुक्त डीएसी एसएस यादव ने बताया कि प्लान के मुताबिक गुरुवार को पांच हजार रुपए देने के लिए शाम 6.40 पर प्रेमसिंह थाना परिसर में टीआई सुल्या के निवास पर पहुंचा। इसके पूर्व लोकायुक्त टीम पूरा घेरा डाल चुकी थी। प्रेमसिंह ने जैसे ही टीआई को पांच हजार रुपए दिए, टीम ने तत्काल रिश्वतखोर टीआई को रंगे हाथों पकड़ लिया।

इसे भी पढ़ें :- RBI ने बंधन बैंक और जनता सहकारी बैंक पर लगाया एक करोड़ रुपये का जुर्माना