ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
कृषि अधिकारी धान बीज के चेकिंग के दौरान अच्छी खासी रकम लेकर बालाघाट जिले में किसानों के साथ कर रहे खिलवाड़
June 22, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
 

कृषि अधिकारी धान बीज के चेकिंग के दौरान अच्छी खासी रकम लेकर बालाघाट जिले में किसानों के साथ कर रहे खिलवाड़

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ बालाघाट // वीरेंद्र श्रीवास 83196 08778

             बिना पंजीयन के बाजार में बिक रहे धान के बीज             

लेम्पस में उन्नत बीज न होने से किसान काट रहे चक्कर, व्यापारी उठा रहे फायदा, ठगे जा रहे किसान

बालाघाट. जिले में हल्की फुल्की बारिश के बाद किसानों ने बोवनी की तैयारी शुरू कर दी है। लेकिन कृषि विभाग की लापरवाही के चलते किसान ठगे जा रहे है। दरअसल लेम्पस में अब तक धान के बीज नहीं पहुंचे और किसानों को बाजार से धान के बीज खरीदने पड़ रहे हैं।

हाट बाजारो में बिना पंजीयन के छोटे बड़े स्टॉल लगा कर बीज खुलेआम बेंचा जा रहा है। अधिकारी क्षेत्र के किसान केंद्र में जाकर छोटे बड़े कृषि दुकानदार भाइयों को, कोई भी रोक टोक नही है । वहीं, दूसरी ओर सहकारी समिति मर्यादित खलोड़ी में अब तक बीज नहीं आया है। बाजार में बिक रहे धान के नकली बीज से किसानों की परेशानी बढ़ गई है। किसान पैसे खर्च कर भी ठगी के शिकार हो रहे हैं। किसानों को हजारों रुपए का चूना भी लग रहा है।

वीडियो ख़बर, इनका कहना है :- बिना पंजीयन के बाजार में बिक रहे धान के बीज

.

नकली धान का बीच अंकुरित होते ही मुरझा जाता है। इससे किसानों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है। साथ ही उनके लिए खेती का बहुमूल्य समय भी बर्बाद हो जाता है। किसानों का कहना है कि बाजार से वो लोग उन्नत बीज समझ कर खरीदते है। लेकिन इन बीजों से कोई खास उपज नहीं हो रही है।

जानकारों का कहना है कि धान के बीज में असली-नकली का पता संभव नहीं है। अंकुरण के बाद ही कुछ पता चल सकता है। जिले के विभिन्न कृषि कार्यालय से हाईब्रीड बीज अनुदानित दर पर दिया जा रहा है। खेत की रसीद एवं आवेदन देकर इच्छुक किसान बीज प्राप्त कर सकते है। लेकिन खलौड़ी के किसानों को मजबूरी में बाजार से महंगी बीज लेना पड़ रहा है।

जिसके गुणवत्ता का भी कोई ठिकाना नहीं है। सभी बाजारों में खुलेआम बीज बिक रहे हैं साथ ही 500 रुपए की बीज 900 रुपए में बेंचे जा रहे हैं। किसानों का कहना है कि बोवनी का समय आ गया है लेकिन सहकारिता मर्यादित लैम्पस में बीज नहीं पहुंचा है।

ग्रामीण का कहना है कि ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी की ओर से भी कोई मदद नहीं मिल रही है। कृषि विभाग से संपर्क कर बीज की मांग की जाती है इसके बाद भी बीज उपलब्ध नहीं हो पाता है।

बीज दुकानों का किया औचक निरीक्षण

उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास बालाघाट द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार उर्वरक बीज एवं कीटनाशक गुण नियंत्रण के तहत जिले में गुण नियंत्रण के लिए सघन अभियान दल बालाघाट में बनाया गया है। जिसके आधार पर दल द्वारा निरंतर निरीक्षण किया जा रहा है। बालाघाट जिला कलेक्टर के आदेशानुसार दल के अधिकारियों द्वारा विकासखंड बालाघाट के बीज विके्रताओं का निरीक्षण किया गया निरीक्षण में जिले के समस्त खाद्य एवं कीटनाशक पंजीकृत विके्रताओं को आगाह किया गया है.

कि विभाग द्वारा जारी अनुज्ञप्ति में अधिकृत कंपनी के आदान सामग्री का व्यवसाय करें यदि अन्य कंपनी की खादान सामग्री का व्यवसाय किया जाना पाया गया तो अनुज्ञप्ति धारकों के ऊपर उर्वरक कीटनाशक गुण नियंत्रण अधिनियम में विहित प्रावधान अनुसार अनुसाश्नात्मक कार्यवाही की जाएगी।