ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
मेडिकल यूनिवर्सिटी से पांच करोड़ रुपये का बकाया राजस्व वसूले
November 20, 2019 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
मेडिकल यूनिवर्सिटी से पांच करोड़ रुपये का बकाया राजस्व वसूले

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770

जबलपुर - एसडीएम गोरखपुर ने मेडिकल यूनिवर्सिटी से पांच करोड़ रुपये का बकाया राजस्व प्राप्त करने में आखिरकार सफलता प्राप्त की है ।

मेडिकल यूनिवर्सिटी से राजस्व वसूली के लिये काफी दिनों से एसडीएम आशीष पांडे द्वारा प्रयास किये जा रहे थे। इस बारे में कई बार पत्र व्यवहार भी किया गया और व्यक्तिगत तौर पर भी मेडिकल युनिवर्सिटी के अधिकारियों से भेंट कर नियमों एवं प्रावधानों से अवगत कराकर उनसे राजस्व का भुगतान करने का आग्रह किया गया ।

इसे भी पढ़ें :- लीज नवीनीकरण की 3 करोड़ की बकाया राशि नहीं चुकाने पर सम्पत्ति कुर्क

श्री पांडे ने बताया कि बकाया राजस्व के भुगतान के प्रति मेडिकल यूनिवर्सिटी के अधिकारियों का भी हमेशा सकारात्मक रुख रहा । उन्होंने बताया कि आज बुधवार को यूनिवर्सिटी द्वारा भू-भाटक के रूप में राजस्व की बकाया राशि पांच करोड़ रुपये का चेक तहसीलदार गोरखपुर के नाम से प्रदान कर दिया गया ।

इसे भी पढ़ें :- हनीट्रैप में MP के BJP नेता का वायरल वीडियो मचा रहा तांडव, श्वेता स्वपनिल जैन के साथ पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा मना रहे थे रंगरेलियां

एसडीएम गोरखपुर श्री पांडे ने बताया कि यह प्रदेश में एक मुश्त राजस्व वसूली का सबसे बड़ा मामला हो सकता है । उन्होंने बताया कि मेडिकल यूनिवर्सिटी पर बर्ष 2011-12 से भू-भाटक एवं प्रीमियम का लगभग 25 करोड़ रुपये बकाया था । बड़ी राशि होने के कारण शासन द्वारा मेडिकल यूनिवर्सिटी को पांच किश्तों में इस राशि को चुकाने की अनुमति दी गई थी । जिसकी अवधि बर्ष 2017 को समाप्त हो चुकी थी । यह मेडिकल यूनिवर्सिटी द्वारा चुकाई गई पहली किश्त है।

इसे भी पढ़ें :- राजीव कुमार जैन अधीक्षण अभियंता भोपाल विकास प्राधिकरण के काले कारनामे

एसडीएम गोरखपुर ने बताया कि राजस्व वसूली की कार्यवाही कलेक्टर श्री भरत यादव के निर्देशानुसार की गई । श्री पांडे के मुताबिक कलेक्टर महोदय से पांच करोड़ रुपये का बकाया राजस्व चुकाने के लिये मेडिकल यूनिवर्सिटी को सम्मान पत्र प्रदान करने का आग्रह उनके द्वारा किया जाएगा ।