ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
नागदा रेलवे स्टेशन पर पकड़ा गया आरपीएफ वर्दी धारक फर्जी आरक्षक, अदालत के आदेश पर भेजा जेल
March 15, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
नागदा रेलवे स्टेशन पर पकड़ा गया आरपीएफ वर्दी धारक फर्जी आरक्षक, अदालत के आदेश पर भेजा जेल

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा । नागदा रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर पकड़े गये फर्जी आरपीएफ आरक्षक को अदालत के आदेश पर शनिवार को जेल भेजा गया । जीआरपी ने इस पूरे मामले में 5 दिनों का रिमांड मांगा था। प्रकरण में पुलिस आरक्षक बनाने के लिए 3 लाख रूपए लेने वाले आरोपी शख्स पर कार्यवाही के लिए इन्तजार मे है।

सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार जीआरपी चौकी प्रभारी अजय मिश्र ने आरोपि श्रवण भारती को रिमांड की मांग को लेकर न्यायालय में पेश किया गया था। लेकिन अदालत ने जेल भेजने का आदेश दे दिया। आरोपि के माता- पिता के आने का इंतजार किया जा रहा है। यदि उनके पास ऐसे कोई दस्तावेज मिलेंगे जैसा कि आरोपि अपने बयान में बता रहा है कि आरपीएफ  में नौकरी दिलाने के नाम पर भूपेंद्रसिंह निवासी जयपुर ने 3 लाख रूपए श्रवण भारती से लिए थे । यदि इस बात के पुख्ता प्रमाण मिलते है तो भूपेद्रसिंह पर भी कार्यवाही की जाएगी।

ट्रेन में यात्रा के दौरान नागदा रेल्वे स्टेशन पर पकड़ा गया था

शुक्रवार सुबह 3.25 बजे जीआरपी एवं आरपीएफ  ने संयुक्त रूप से  ट्रेन जयपुर- बांद्रा  से यात्रा करते हुए आरपीएफ  की वर्दी पहने हुए श्रवण भारती पिता दूला  उम्र 22 वर्ष निवासी गांव गुरेरा जिला नागोर राजस्थान को पकड़ा था। यह ट्रेन स्टापेज के समय प्लेटफॉर्म पर चाय पीने की लिये उतरा था । तभी आरपीएफ एव जीआरपी के जवानो के द्वारा पूछताछ में पता चला कि पकड़ा गया आरोपी आरपीएफ का फर्जी आरक्षक है।