ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
पाँचवी की फर्जी अंकसूची का मामला गरमाया, शिकायत पर छेडछाड़ व बलात्कार के केस में फ़साने की धमकी
January 7, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • क्राइम / अपराध
ग्राम अजीमाबाद पारदी : पाँचवी की फर्जी अंकसूची का मामला गरमाया, शिकायत पर छेडछाड़ व बलात्कार के केस में फ़साने की धमकी

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

खुलासा 

नागदा. मामला ग्राम अजीमाबाद पारदी का जो कि 2017 में सहायिका की मृत्यु के बाद सहायिका की नियुक्ति के संबंध में वर्ष 2016 में आंगनवाडी क्रं. 1 की सहायिका की मृत्यु हो जाने से ग्राम पंचायत अजीमाबाद पारदी में सहायिका का पद रिक्त था.

तब आंगनवाडी में साझा चुल्हा पुरक पोषण आहार वितरण का कार्य करने वाली माँ सरस्वती स्व सहायता समूह की अध्यक्ष शांतिबाई पति कनिराम ने पांचवी की जाली अंकसूची बनवाकर सहायिका पद के लिये आवेदन गांव की अन्य तीन महिलाओं के साथ आवेदन किया (1) कुंतीबाई पति कमल (2) शांतिबाई पति हरिप्रसाद (3) मधुबाई पति समरथ ने सहायिका पद के लिए आवेदन किया। 

इसे भी पढ़ें :- पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करेगा यह राज्य, CM ने कर दी घोषणा, कानून लागू करने वाला पहला राज्य बनेगा, जाने

किंतु इन तीनो महिला को यहां पता नहीं चला कि गांव की ही शांतिबाई पति कनिराम ने भी आवेदन किया है और नहीं किसी गांव के व्यक्ति को पता है। एवं शांतिबाई ने मधु पति समरथ को बोला कि आंगनवाडी क्रं. 1 में चंद्रवंशी समाज की बस्ती है और वे लोग तुझे परेशान करेंगे और शराब पीकर आयेंगे ऐसा कहकर मधुबाई को डरा दिया एवं कुंतीबाई को बोला कि तु मुझे 25000 रू दे दे मैं अधिकारी से तेरी बात कर ली है और तो फिर कुंतीबाई ने अपने पति एवं दो गवाह के सामने रूपये दे दिये और फिर कुंतीबाई द्वारा नियुक्त के विषय में पुछा गया तो शांतिबाई ने कहा कि अभी तुम्हारा नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें :- व्यापमं घोटाले से सम्बद्ध के. के. मिश्रा के विरुद्ध पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लगाया गया मानहानि परिवाद भोपाल जिला न्यायालय ने किया खारिज़

और मैं तुम्हारे रूपये वापस दे दुंगी जब तो फिर कुंतीबाई पति कमल आंगनवाडी क्रं. 2 की कार्यकर्ता संगी से जानकारी लेने गया तो संगीता बाई पति कैलाश द्वारा कहा गया कि नियुक्ति शांतिबाई की हो गई है और तो फिर कुंतीबाई ने पूछा कि यहां पर नियुक्ति आदेश क्यों नहीं लगाया ? एवं हम लोगों को जानकारी क्यों नहीं दी और दावा आपत्ति के लिये नोटिस क्यों नहीं लगाया ? तो संगीताबाई द्वारा कहा गया कि दावा आपत्ति का समय निकल गया है। 

इसे भी पढ़ें :- उज्जैन में इनामी गुंडे रौनक गुर्जर और उसके गैंग के सदस्यो का एनकाउंटर, पुलिस ने तीनों अपराधियों को गोली मारी

इस विषय में कुंतीबाई ने 181 पर शिकायत की तो शांतिबाई ने कुंतीबाई एवं उसके पति को जान से मारने की धमकी एवं छेडछाड़ व बलात्कार के केस में फंसाने एवं आत्महत्या करके चिट्ठी लिखकर रखने की धमकी दी जा रही है। एवं जांच के दौरान कुंतीबाई एवं शांतिबाई के अंकसुची शासकीय कन्या शाला स्कूल में मंगवाई गई तो कुंतीबाई ने अपनी सभी अंकसुची 4 से 10वीं तक की सभी अंकसुची अधिकारी को जांच में बताई। 

इसे भी पढ़ें :- क्राइम सस्पेंस के तीसरे अंक में : आखिर वो कौन – कौन संभावित लोग जो एक विकलांग व माने गए फर्जी पत्रकार को उतारना चाहते हैं मौत के घाट

सभी की एक एक फोटोकाॅपी अधिकारी द्वारा ली गई एवं शांति बाई के पास चौथी से 8वी तक की अंकसुची मंगवाई गई तो उसके पास सिर्फ 5वीं की जाली अंकसुची के अलावा कोई अंकसूची प्राप्त नहीं हुई। इस विषय में कुंतीबाई ने जिलाधीश, जिला शिक्षा अधिकारी, एसपी, आई जी एवं पुलिस थाना बिरलाग्राम को भी शिकायत की गई लेकिन आज दिनांक तक कोई सुनवाई अधिकारियों द्वारा नहीं की गई।