ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
फर्जी नियुक्ति पत्र देकर धोखाधड़ी करने वाला आरोपी गिरफ्तार
January 1, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़

फर्जी नियुक्ति पत्र देकर धोखाधड़ी करने वाला आरोपी गिरफ्तार

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

06 लोगों से करीब 31 लाख रुपए लेकर घूमा रहा था, अपराध दर्ज होने पर हुआ था फरार 

रायगढ. थाना सिटी कोतवाली रायगढ में आवेदकगण 1. नारायण पटेल धनागर, रायगढ 2. दीपक गिरी गोस्वामी राजीवनगर, रायगढ 3. विकास सिंह कोतरारोड, रायगढ 4. सौरभ पटेल डभरा, जिला जांजगीर चांपा 5. पकंज यादव पलौद, रायपुर 6. प्रकाश पटेल महासमुंद द्वारा संयुक्त रूप से आवेदन देकर रिपोर्ट दर्ज कराया गया.

जिला कार्यालय के राजस्व शाखा में सहायक ग्रेड-3 के पद पर परिविक्षा अवधि में पदस्थ संदीप कुमार श्रृंगी पिता राजेन्द्र श्रृंगी उम्र 34 साल निवासी मिट्टूमुडा चौकी जुटमिल थाना कोतवाली रायगढ़ इन लोगों द्वारा शासकीय नौकरी के लिए परीक्षा दिलाये जाने के बाद इनसे संपर्क किया और बताया कि मेरी पहुच मंत्रालय तक है मैं तुम्हें नौकरी लगवा सकता हू इसके एवज में तुम्हे कुछ रूपये खर्च करने होगें ।

इसे भी पढ़ें :- कमलनाथ के युवा मंत्री जीतू पटवारी ने युवा कांग्रेस अध्यक्ष को लात जूते ठोक कर बाहर निकला, देखें वीडियो

तब उसकी बातों पर विश्वास करते हुए संदीप कुमार श्रृंगी को सभी ने एडवांस में रूपये दे दिये है और वे इन्हें फर्जी नियुक्ति पत्र दे दिया जिसे पाकर  ज्वाईनिंग देने गये तब पता चला कि नियुक्ति पत्र फर्जी है क्योंकि इनकी पदस्थापना विभाग में हुई ही नही थी । आरोपी ने सभी से करीब 31 लाख रूपये वसूल कर लिया था । जब इनके द्वारा संदीप कुमार श्रृंगी से अपने रूपए वापस करने की मांग किये तो भी उन्हें गुमराह कर बोला कि तुम्हारी नौकरी लगेगी उसका जिम्मेदार मेरी है और रूपये नहीं लौटाकर घूमा रहा था । 

इसे भी पढ़ें :- हनीट्रैप गैंग में व्यवसायी, अधिकारी और मीडियाकर्मी भी थे शामिल

परेशान आवेदकगण द्वारा इसकी शिकायत आवेदन देकर थाना कोतवाली में करने पर अप.क्र.590/19 धारा 420 भादवि का अपराध संदीप कुमार श्रृंगी के विरूद्ध दर्ज कर विवेचना में लिया गया । आरोपी अपराध पंजीबद्ध होने के बाद गिरफ्तारी के भय से अपना ठिकाना लगातार बदल रहा था जिसे दिनांक 01.01.2020 को कोतवाली पुलिस द्वारा मुखबिर सूचना पर गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है ।

इसे भी पढ़ें :- IAS ग़िरफ़्तार : वाह रे टॉपर, एक लाख में बेच दिया ज़मीर