ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
फर्जी शादी के लिए कूटरचित दस्तावेज देने वाले गिरोह का बिरलाग्राम पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा
February 8, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • क्राइम / अपराध

फर्जी शादी के लिए कूटरचित दस्तावेज देने वाले गिरोह का बिरलाग्राम पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा,

PHOTO : रमेश महाराज उर्फ रमेश तांत्रिक एव बिरला ग्राम पुलिस

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

हाईकोर्ट इंदौर के आदेश पर आरोपी रमेश महाराज पर धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज

नागद. गिरोह के मुख्य सरगना नीलकंठेश्वर भक्त मंडल समिति मेहतवास के व्यवस्थापक रमेश महाराज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि रमेश महाराज उर्फ रमेश तांत्रिक की समिति को शादी के प्रमाण-पत्र जारी करने का अधिकार भी नहीं था, बावजूद प्रमाण-पत्र जारी किया गया।

इस कार्य में उसका साथ बिरला मंदिर के पुजारी सहित अन्य लोगों ने दिया है। इसे लेकर पुलिस जांच कर रही है। बिरलाग्राम थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी ने बताया नेहरू नगर इंदौर निवासी सुभाष पिता रामस्वरूप शर्मा ने 10 जनवरी को शिकायत दर्ज कराई थी।

इसे भी पढ़ें :- दूल्हे की हुई जघन्य हत्या: पुलिस का दावा गांव के चौधरी परिवार की बेटी पर शहजाद की थी बुरी नियत, बहन के कारण भाईयों ने गला रेतकर हत्या की 

इसमें शर्मा ने बताया कि उनकी बेटी सेजल शर्मा की इंदौर निवासी विपाश पिता फ्रांसिस निनामा से 3 मई 2019 को रमेश महाराज ने नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर पर शादी कराई, इसकी नोटरी भी की गई। उन्होंने इस शादी को वैध नहीं मानकर हाईकोर्ट इंदौर में परिवाद लगाया। हाईकोर्ट इंदौर के आदेश पर आरोपी रमेश महाराज पर धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की गई। इसमें पता चला कि रमेश द्वारा अनाधिकृत रूप से अपनी समिति का दुरुपयोग कर फर्जी शादी के प्रमाण पत्र जारी किए जाते हैं।

फर्जी शादी के लिए कूटरचित दस्तावेज देने वाले गिरोह का बिरलाग्राम पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

इसे भी पढ़ें :- ग्रेसिम उद्योग के cs2 प्लांट से निकलने वाली गैसों से क्षेत्रवासियों हो रहे परेशान जवाबदार क्यो है मौन?

आरोपी रमेश को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की गई और शुक्रवार को उसे जेल भेज दिया गया। पूछताछ में आरोपी रमेश ने बताया कि फर्जी शादी में उसे सहयोग मेहतवास निवासी मनीष शर्मा(ज्ञानी), डिंपी वकिल सहित अन्य लोग करते हैं। बता दें कि मनीष शर्मा बिरला मंदिर में पुजारी हैं। पुलिस द्वारा इन दोनों के खिलाफ भी जांच शुरू कर दी गई है।

इसे भी पढ़ें :- युवती से शारीरिक संबंध बनाता रहा गावँ का शादीशुदा मर्द, धारा 376 का मामला दर्ज

जांच में अगर फर्जी शादी में इन लोगों का हाथ भी सामने आता है तो इन पर भी प्रकरण दर्ज होगा। कार्रवाई में सहायक उप निरीक्षक एच.पी.एस. चौहान, आरक्षक प्रद्युम्न सिंह, दिलीप राणा की विशेष भूमिका रही।