ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करने मोबाईल एप्प से कनेक्ट हुये जिले के सभी पुलिस अधिकारी
May 10, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करने मोबाईल एप्प से कनेक्ट हुये जिले के सभी पुलिस अधिकारी

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

  • एसपी रायगढ़ ने विडियो कांफ्रेसिंग के जरिए ली सभी थाना, चौकी प्रभारियों की बैठक
  • मीटिंग में दिये निर्देश दूसरे राज्यों, जिलों से श्रमिकों का आना जारी है, राहत के कार्य जारी रखें
  • कम्पलीट लॉक डाउन में भी मनरेगा, कृषि कार्य, आवश्यक सेवाएं बाधित ना हो
  • प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम ने लाक डाउन 3.0 का पालन कराने के उद्देश्य से शहर में निकाला गया जागरूकता फ्लैग मार्च

रायगढ़ . कोरोना वायरस को लेकर बनायी गई जोन टेबल लिस्ट अनुसार जिला रायगढ़ ग्रीन जोन में है । जिला प्रशासन एवं जिला पुलिस लोगों को लॉक डाउन के हर फेस में संक्रमण को लेकर जागरूक करने का कार्य कर रही है । लोगों को मास्क लगाने, सोशल/फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करने की लगातार हिदायतें दी जा रही है ।

ऐसे में प्रशासन द्वारा भी सामुहिक कार्यों से परहेज किया जा रहा है, जिसमें फिजीकल डिस्टेंसिंग पालन न हो । ऐसे में एसपी श्री संतोष कुमार सिंह के निर्देशन पर मोबाईल एप्स के जरिए विडियो कांफ्रेसिंग कर समीक्षा बैठक आज सुबह 11.00 बजे पुलिस कार्यालय में एसपी श्री सिंह द्वारा ली गई ।

एसपी श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा लॉक डाउन 3.0 में भी पूरी ऊर्जा के साथ अच्छे से कार्य करने की हिदायत देते हुए बताएं कि लॉक डाउन 3.0 में हमारी जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है, पिछले लॉक डाउन दौरान केवल ट्रैवल हिस्ट्री वाले लोगों का जिले में आगमन हुआ जिन्हें क्वॉरेंटाइन किया गया इसमें सुखद बात यह रही कि कोई पॉजिटिव नहीं मिला । परन्तु अब जब श्रमिक व अन्य लोग विभिन्न जगहों से आ रहे है, कुछ हॉटस्पॉट क्षेत्र से भी आ रहे हैं तो हमारी सावधानी और जिम्मेदारी बढ़ जाती है । प्रत्येक लाक डाउन में पुलिस मुख्यालय व अन्य वरिष्ठ कार्यालयों से निर्देश प्राप्त हुए निर्देशों पर जिला पुलिस द्वारा अपनी विवेक से कार्यवाही किया गया है । परंतु सबसे आवश्यक यह है हमें परिस्थिति अनुसार अपने कार्यों को अंजाम देना है ।

प्रारंभ में सख्ती की जरूरत थी तो सख्ती दिखाई गई साथ ही जागरूकता एवं जरूरतमंदों को राहत दिये जाने का कार्य चला । वर्तमान में देश की जनता पुलिस के कार्य की सराहना कर रही है, पुलिस की छवि अच्छी बनी है इसे बरकरार रखना है । ऐसा कोई भी कार्य ना करें जिससे विभाग की नकारात्मक छवि समाज में जावे और उन्होनें कहा कि आप सभी बार-बार लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने मास्क पहने के लिए कह रहे हैं तो ये सभी चीजें हम पुलिसवालों के आदत में शामिल हो जाना चाहिये ।

उन्होने अचानक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग लिए जाने के अपने आशय को स्पष्ट कर बताये कि लाक डाउन फेस-3 में पूर्व में जरूरतमंदों को दिए गए राहत कार्यो को आगे बढ़ाना है परंतु अब राहत के कार्य जरूरतमंदों के साथ विशेष तौर पर पलायन कर रहे श्रमिकों तथा ऐसे परिवार जिसमें महिलाएं, बच्चे, वृद्ध काफी संख्या में हमारे जिले के चेक पोस्ट को कोर्स कर रहे हैं, उनके भोजन, पानी, दवाइयों की मदद प्रत्येक चेक पोस्ट पर हो इसका इंतजाम करना है परंतु स्वयं की सुरक्षा का भी विशेष ध्यान रखना है ।

अपनी बात को आगे बढाते हुए उन्होंने सभी थाना चौकी प्रभारियों को निर्देश दिया गया है कि सभी चेक पोस्ट पर तत्कालिक रूप से राहत दिए जाने हेतु कम से कम बिस्किट, नमकीन के पैकेट उपलब्ध हो पानी की व्यवस्था हो । अपने क्षेत्र के एनजीओ की मदद से मेडिकल किट बनाकर रखें जिसमें फास्टेड व दर्द निवारक गोलियां हो । हमें यह नहीं देखना है कि मजदूर हमारे जिले का है, हमारे राज्य का है, पलायन कर रहे लोग कोई भी जिले के हो उनकी उसी सहानुभूति से मदद करें जैसा आप किसी अपने के लिए करते हैं । इसे केवल ड्यूटी नहीं बल्कि अपनी संतुष्टि के लिए करें ।

मीटिंग दौरान उन्होंने प्रत्येक थाना, चौकी प्रभारियों से उनके थाना क्षेत्र में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर और कितने लोग बाहर से आए हैं, कितने आना बाकी है । इनकी जानकारी लेकर क्वॉरेंटाइन सेंटर की व्यवस्थाओं के बारे में पूछा गया और सभी को आवश्यक व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये ।

एसपी रायगढ़ ने बताया कि भारत सरकार द्वारा श्रमिकों को लाने के लिए ट्रेन मुहैया कराई जा रही है जिसका स्टॉपेज खरसिया, रायगढ़ होगा वहां से ट्रक, बसों के जरिए भी श्रमिकों को अन्य जगह भेजा जाएगा । इस दौरान पुलिस को व्यवस्था बनानी है, हमें भीड़ अथवा इन्फेक्शन न बढ़े इस पर कार्य करना है । एडिशनल एसपी श्री अभिषेक वर्मा द्वारा प्रत्येक थाना प्रभारियों को उनके थाना क्षेत्र बाहर गए श्रमिकों के डाटा से मिलान कर कितने श्रमिकों के आना बाकी है इस संबंध में तैयारी करने को बताया गया ।

एसपी श्री सिंह ने थाना प्रभारियों को बताया कि चेक पोस्ट के अतिरिक्त लोग जंगलों के रास्ते पगडंडियों से भी जिले में प्रवेश करते हैं । थोड़ी भी ढील दे तो यह गलत होगा लोग बिना पास के, बिना चेक हुए ना जाएं इस ओर ध्यान दिया जाए परंतु श्रमिकों के पास, पास नहीं होंगे पैदल चल रहे लोगों के पास पास नहीं होंगे तो उन्हें बेवजह परेशान ना किया जाए उनकी मदद करें । ऐसे में सीमित बल को देखते हुए गांवों में बनाये गये पुलिस मित्र, सरपंच, सचिव, गांव वालों की मदद ले । गांव में अच्छी छवि के लोगों को वालंटियर बनावे ।

क्राईम को लेकर एसपी बोले लॉक डाउन दौरान अच्छी बात यह भी रही कि क्राइम का डिटेक्शन हो रहा है, कोई सनसनीखेज घटना नहीं हुई परंतु जितने भी छोटे-बड़े मामले हुए सभी डिटेक्ट सभी को डिटेक्ट किया गया है । उन्होंने थाना, चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि लंबे समय से लाक डाउन के कारण विवेचना कार्य धीमा है जिससे पेंडिंग बढ़ते जा रहा है ऐसे में लंबित विवेचना कार्य की गति को बढ़ाएं । उन्होनें राजपत्रित अधिकारियों से कहा कि सभी मामले में चालान तैयार हो जावे यह सुनिश्चिात करें तथा लगातार अवैध शराब पर कार्यवाही करें जिससे अवैध शराब बिक्री की शिकायतें ना आवे अवैध शराब बिकिनी बंद हो इस दिशा में कार्यवाही करें ।

करीब ढाई घंटे चली मीटिंग के अंत में एक-एक कर सभी थाना, चौकी प्रभारियों से राहत के कार्य के संबंध में उनसे सुझाव लिया गया साथ ही सभी प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि कंप्लीट लॉक डाउन दौरान लोग अनावश्यक न घूमें ध्यान दिया जावे परंतु कंप्लीट लाक डाउन के दिन मनरेगा, कृषि कार्य, आवश्यक सेवाएं बाधित ना हो इस बात का विशेष ध्यान दिया जाए । फिजीकल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए एसपी एवं एएसपी चेंबर में राजपित्रत अधिकारीगण तथा शहर के थाना, चौकी प्रभारी ऑनलाईन सम्मिलित हुए जबकि मुख्यालय बाहर के पुलिस अधिकारीगण अपने थाना/कार्यालय से कांफ्रेसिंग में जुड़े हुए थे ।

पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा मीटिंग में सभी थाना, चौकी प्रभारियों को स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर बेहतर कार्य करना बताया गया था । इसी क्रम में आज शाम प्रशासनिक अधिकारियों एवं राजपत्रित पुलिस अधिकारी एवं शहर के सभी थाना, चौकी प्रभारी एवं उनके स्टॉफ द्वारा पूरे शहर में फ्लैग मार्च निकाला गया ।

इस फ्लैग मार्च के जरिए शहरवासियों को लाक डाउन 3.0 में दिए गए नियमों को पालन करने तथा कंप्लीट लॉक डाउन (शनिवार और रविवार) के दिन प्रशासन व पुलिस का सहयोग कर घरों में रहकर संक्रमण के चैन को तोड़ने की अपील की गई है ।