ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
राहत शिविर में रूके लोगों का प्रशासन रख रहा है पूरा ख्याल, रायगढ़ जिले में 227 लोगों रुके हैं राहत शिविरों में
April 15, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
राहत शिविर में रूके लोगों का प्रशासन रख रहा है पूरा ख्याल, रायगढ़ जिले में 227 लोगों रुके हैं राहत शिविरों में

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

रायगढ़, कोरोना महामारी के रोकथाम के लिए लगाये लॉक डाउन में लोगों की जिंदगी की रफ्तार धीमी कर दी है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लोगों को घरों में रहना पड़ रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने के लिए अधिकांश काम धंधे बंद कर दिए गए है।

इन सबका सीधा असर अन्य राज्यों से काम या मजदूरी करने आये श्रमिकों पर हुआ है, जो यहां फंसे हुए हैं। किन्तु शासन द्वारा उनकी देखभाल का उचित प्रबंध किया गया है। अन्य राज्यों या जिलों के ऐसे लोग जो रायगढ़ जिले में फंसे हुए है, उनके लिए राहत शिविर बनाकर तमाम जरूरी सुविधाएं मुहैय्या करायी जा रही है।

इसे भी पढ़ें :- लॉक डाउन में एसडीएम की धर्मपत्नी सरकारी वाहन से सीख रही थी ड्राइविंग, पत्नी की करतूत से हटाए गए एसडीएम, वीडियो वॉयरल

राहत शिविरों में सुबह शाम के खाने व नाश्ते के साथ स्वच्छ पेयजल व शौचालय की व्यवस्था की गई है। साथ ही रोजमर्रा की जरूरत का सामान जैसे साबुन, तेल, पेस्ट भी दिया जा रहा है। प्रशासन स्तर पर अंतर्विभागीय टीम बनाकर 24 घंटे शिविर में रूके लोगों की देखभाल की जा रही है। उनकी कॉउंसलिंग भी की जा रही जिससे वे इस चुनौतीपूर्ण समय में कोरोना के रोकथाम के लिए लॉक डाउन का लगाया जाना.

इसे भी पढ़ें :- जनसंपर्क अधिकारी आनंद जैन के खिलाफ पत्रकारों का गुस्सा, मनपसंद पत्रकारों को ख़बर बाकी को बाबाजी का ठुल्लू

सोशल डिस्टेंसिंग जैसे मत्वपूर्ण पहलुओं को समझ कर उसका पालन करते हुए प्रशासन के साथ सामंजस्य बना सकें। इस दौरान एक दूसरे से दूरी बनाकर रहना, नियमित रूप से साबुन से हाथ धोना जैसी बातें बताकर उस पर अमल करवाया जा रहा है। शिविर में रहने वाले लोगों को मॉस्क भी बांटे गये है। स्वास्थ्य विभाग की टीम नियमित अंतराल में इन शिविरों में पहुंचकर रुके लोगों का परीक्षण कर रही है। जिला स्तर के अधिकारी सतत् निरीक्षण कर शिविरों के संचालन पर नजर बनाए हुए हैं।

इसे भी पढ़ें :- होम क्वारेंटाइन में वृद्ध की मौत, फर्श और घर की दीवारों पर रेंग रहे थे कीड़े, योगी सरकार के खोखले दावों की कहानी

धरमजयगढ़ के राहत शिविर में रुके जिला गढ़वा झारखंड के निवासी एहसान अहमद खान कहते हैं कि लॉक डाउन लगने के शुरुआती दौर में दिक्कत तो हुई पर 29 मार्च को राहत शिविर में आने के बाद से रहने खाने की चिंता से मुक्त हो गए हैं। इसी प्रकार झारखंड के ही सरफुद्दीन खान भी कहते हैं कि प्रशासन की व्यवस्था बहुत अच्छी है, समय से नाश्ता खाना मिलने के साथ नियमित स्वास्थ्य जांच भी की जाती है।

गौरतलब है कि रायगढ़ जिले में 27 राहत शिविर संचालित है। जहां वर्तमान में विभिन्न राज्यों के 227 व्यक्ति रूके हुए है। जिनमे छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों से 46, उड़ीसा से 2, झारखण्ड से 39, बिहार से 25, मध्यप्रदेश से 82, उत्तरप्रदेश से 6, राजस्थान से 5, पश्चिम बंगाल से 18 एवं महाराष्ट्र से 4 व्यक्ति शामिल हैं।