ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
सेनेटाईजर केबिन ग्रेसिम उद्योग का सराहनीय कदम, किन्तु सवाल भी किये खड़े?
April 11, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़

सेनेटाईजर केबिन ग्रेसिम उद्योग का सराहनीय कदम, किन्तु सवाल भी किये खड़े?

 

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

उज्जैन जिले मे बिरला ग्राम थाना पहला थाना जिसके पास है यह सुविधा

नागदा। कोविड -19 की वजह से लॉकडाउन के कारण दिनरात 24 घंटे अपनी जिम्मेदारी निभा रहे पुलिस कर्मियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए ग्रेसिम उद्योग के इंजीनियरों द्वारा सैनिटाइज केबिन का निर्माण कर बहुत ही सराहनीय कार्य को अंजाम दे डाला है। केबिन को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसके भीतर प्रवेश करते ही पुलिस कर्मी को केवल एक बटन भर दबाना होगा । 

ऐसा करते ही केबिन में लगाए गए शॉवर से सेनेटाईजर युक्त केमिकल का छिड़काव शुरु हो जाएगा। इसका बड़ा फायदा यह है कि पुलिसकर्मी के कपड़े तक महज दो मिनट में कोरोना वायरस से मुक्त हो जाएंगे। उद्योेग प्रबंधन ने लॉकडाऊन अवधि में प्लांट के भीतर आने वाले कर्मचारियों के लिए यह सुविधा शुरु की। जो बिरला ग्राम थाने के पुलिस कर्मियो को भेट स्वरुप दी है। जो सराहनीय कदम है।

एक सवाल यह भी उठता है की क्या उद्योग के क्षेत्र मे नागदा मण्डी थाना नही आता है क्या वहा के पुलिस जवानो की चिंता उद्योग को नही है या उद्योग के इंजीनियरो को केवल बिरला ग्राम थाने के बल से ही प्रेम है नागदा के उन पुलिस जवानों के लिये भी इस तरह की सुविधा सी एस आर फण्ड से दी जा सकती है तो क्यो नही दी गई ।

सवाल तो बनता है ? क्या नागदा पुलिस कोरोना के संक्रमण से जंग नही लड़ रही है ।

यह दोहरा माप दण्ड उद्योग द्वारा क्यो ?