ALL राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़ क्राइम / अपराध राजनीति मनोरंजन / सिनेमा खेल खिलाड़ी स्वास्थ्य जगत शिक्षा / कैरियर बिजनेस / तकनीकी
वीडियो ख़बर : शातिर चोर क्यों बच रहा है कृषि उपज मण्डी समिति से माल चुरा कर, 3 लाख 50 हजार के सीसी टीवी केमरे में हुई धांधली ने बचा लिया इस चोर को
June 28, 2020 • TIMES OF CRIME , Editor : VINAY G. DAVID • मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़
वीडियो ख़बर : शातिर चोर क्यों बच रहा है कृषि उपज मण्डी समिति से माल चुरा कर, 3 लाख 50 हजार के सीसी टीवी केमरे में हुई धांधली ने बचा लिया इस चोर को

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा।  कृषि उपज मंडी समिति में व्यापारियों के गोदामो से हुई अनाज की चोरि में अभी तक चोर सामने नही आया। जिसे ले कर व्यापारियों और मण्डी सचिव के बिच तीखी नोक झोक भी हुई जिसमे तहसीलदार और  थाना प्रभारी को आना पड़ा था।

मामला शांत तो हो गया किन्तु देखने में यह आया कि मण्डी में जो सीसी टीवी केमरे लगाये गये थे उसके लिये 13 दिसम्बर 2018 को 3 लाख 50 हजार रुपय में वेल्नेक्स ग्लोब सर्विस इण्डिया की कंपनी को दिया गया था जो दिल्ली की थी जिसका पुरा भुगतान कर दिया गया। केमरे और बाकी के जो उपकरण लगाये गये थे वह सभी दिल्ली मेड होकर खराब हो चुके है जिसे खराब हुवे लगभग 6 माह से ऊपर बित चुका है।

सीसी टीवी मय हार्डवेयर एवं साफ्टवेयर मण्डी समिति द्वारा चिन्हित स्थानों पर लगाने, सीसी टी वी के लिये कंट्रोल रूम स्थापित कर समस्थ मण्डी की गतिविधियों को एल ई डी स्क्रीन पर देखने की जिम्मेदारी दिल्ली की कंपनी को दी गई थी जो पुरी ना करते हुवे बीच में ही आधी अधूरा काम कर चम्पत हो गई।

कृषि उपज मण्डी समिति ने लिखा पत्र 

नागदा मण्डी सचिव ने कार्यवाही करते हुवे 18 दिसम्बर 2019 को पत्र भेज कर जवाब मांगा जिस पर मण्डी यंत्री भोपाल ने लिखा की कंपनी का कार्य पिछ्ले कई माह से बन्द पड़ा है जिसके विरुद्ध कार्यवाही करने के आदेश दिये हुवे है। किन्तु दिल्ली की कंपनी की पुर्ण रुप से जानकारि ना होने के कारण व जवाबदारो द्वारा फोन ना उठाने के कारण कार्यवाही नही हो पाई। जिस पर मध्यप्रदेश  कृषि विपणन बोर्ड भोपाल ने पत्र के माध्यम से जवाब दिया ।

वीडियो पर क्लिक करके देखें पूरी वीडियो ख़बर...

वीडियो ख़बर  इनका कहना है : - मंडी सचिव श्री बी.एल.चौधरी ( नागदा )

चोरी के बारे में पुछे जाने पर मण्डी सचिव ने ए एन आई न्यूज़ इण्डिया सवाददाता से चर्चा में बताया कि पाँच केमरे लगे थे जो बन्द पडे है। केमरे उच्च स्थर के है जिनकी वायरिंग खराब हो गई है जिन्हे बदलना पड़ेगा मैने वायरमेन से बात की है 25 से 30 हजार का खर्च बता रहा है कुल पाँच केमरे लगे है जो की अलग अलग जगहों पर है। जहाँ वारदात हो रही है वाह घटना केमरे मे नही आई। हर जगह हर मण्डी में व्यापारियों के आदमी रहते है यहाँ भी है मै इन लोगों को कितना भी बोलता हूँ डाटता हूँ परंतु यह रात में सो जाते है। चोरी की घटना के बाद दो लोगों को नोटिस दे कर जवाब मांगा है जिसे तीन दीन के भीतर जवाब देना है। वही थाने में भी आवेदन दिया है की चोरो को जल्द से जल्द पकड़ कर कार्यवाही की जाये।

संदेह के घेरे में आती है पुरी घटना

24 जुन 2020 की रात लगभग 1.20 बजे व्यापारी के गोदाम का ताला तोड़ कर 16 कट्टे अनाज केवल 17 मिनिट में पार कर देते है जितनी जालिया इस मण्डी में लगी है उतनी तो कही नही लगी है फिर भी चोर इतनी सफाई से चोरी की घटना को अंजाम देते है जैसे सालो से इस काम के लिये मेहनत कर रहे हो। सही कहाँ  मेहनत जो मण्डी के हम्माल हर वक्त करते है जो बोरियो को बड़ी ही आसानी से एक जगह से दूसरी जगह करने मे महारत हासिल होती है। क्योकि 17 मिनिट में 16 कट्टे दिवार के पार करना आसान नही होता है। यदि सीसी टीवी केमरे सही होते तो चोरी की वारदात के आरोपी आज पुलिस की गिरफ्त में होते।